George Fernandes in hindi . जार्ज फर्नांडिस ।

Share this Article

Tags: George Fernandes in hindi

3 जुलाई 1930 में जार्ज फर्नांडिस का जन्म मंगलुरु शहर में हुआ। क्योंकि इनकी मां किंग जॉर्ज की बहुत बड़ी प्रशंसक थी, इसलिए इनका नाम भी जार्ज रख दिया गया।
जार्ज फर्नांडिस अपने 6 भाइयों में सबसे बडे़ थे। उन्होने मंगलुरु के सेंट अल्योसिंस कालेज में 12 कक्षा पूरी की।
और फिर 19 साल की उम्र में 1949 की ठंड में जार्ज काम की तलाश में मुंबई पहुंचे। रात में चौपाटी की किसी बेंच पर सोते , कई बार पुलिस वाले उन्हें भगा भी देते । मुंबई में 19 साल की उम्र में एक अखबार में प्रुफ रीडर का काम मिला। मुंबई में सामाजवादी मजदूर आंदोलन में शामिल हुए और राम मनोहर लोहिया के संपर्क में आए।
उन्होंने मुंबई के टैक्सी यूनियन के सबसे बड़े नेता के रूप में पहचान बनाई।

 George Fernandes in hindi

1950 से 1960 में कई हड़तालों का नेतृत्व किया । 1961 में चुनाव जीतकर बाम्बे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के सदस्य बने।

1967 में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी की ओर से लोकसभा चुनाव में दक्षिण मुंबई की सीट से टिकट मिला । उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर नेता सडशिव कानोजी पाटिल को बड़े अंतर से हराया जिसके कारण उन्हे “जार्ज द जायंट किलर” कहा जाने लगा।

आजादी के बाद तीन वेतन आयोग लागू होने के बाद भी रेलवे कर्मचारियों के वेतन में खास बढ़ौतरी नहीं हुई, इसी बीच जार्ज नवंबर 1973 में आल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन के अध्यक्ष बने। वेतन को लेकर जार्ज ने 8 मई 1974 में मुंबई में हड़ताल शुरू कि और सिर्फ रेलवे कर्मचारी ही नहीं बल्कि टैक्स युनियन ,  इलेक्ट्रिसिटी युनियन और ट्रांसपोर्ट यूनियन के लोग भी इसमें शामिल हुए।

1971 में लैला कबीर से मुलाकात हुई और 22 जुलाई 1971 में लैला से विवाह कर लिया।
जब 1975 में आपातकाल लागू हुआ तब जार्ज ने उस चुनौती को स्वीकार किया और उसका सामना किया।
जार्ज 1977 में मोरार जी देसाई की सरकार में मंत्री पद संभाला। उन्होंने कोकाकोला और आईबीएम कंपनी को वापस अमेरिका जाने का आदेश दिया।

80 के दशक में लैला उनके जीवन से निकल गई और उनकी जगह ली नौकरशाह अरुण जेटली की पत्नी जया जेटली ने।
वे कई गठबंधन की सरकार में मंत्री रहे। 1990 में वीपी सिंह की सरकार में मंत्री रहे। वे तिब्बत की आजादी के बड़े समर्थक रहे। अटल बिहारी वाजपेई की सरकार में 1998 से 2004 तक मंत्री रहे, उनका कहना था की भारत का नंबर एक दुश्मन चीन है और फिर पाकिस्तान, परन्तु अटल जी ने इसका खंडन किया।
जब 2001 में रक्षा घोटाले सामने आए तब उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

 George Fernandes in hindi


2009 तक जया जेटली जार्ज के साथ रहीं। 2009 के आसपास जार्ज की तबीयत बिगड़ने लगी। 2010 में लैला  एक बार फिर अपने बेटे सुशांतो के साथ कृष्णा मेनन मार्ग स्थित जार्ज के घर पहुंचीं। अब जया जेटली का घर में आना बंद हो गया। तब से लैला जार्ज की सेवा में जुटी रहीं।
अंत में 29 जनवरी 2019 को जार्ज फर्नांडिस भारत की राजनीति पर अपनी गहरी छाप छोड़कर इस दुनिया से चले गए।
वे सच में भारतीय राजनीति के अनथक विद्रोही नेता के रूप में उभरे।

जार्ज फर्नांडिस के बारे में कुछ जानकारियां।
1. वे 10 के जानकार थे। कन्नड़, मराठी, हिंदी, अंग्रेजी, तामिल, उर्दू, मलयाली, तुलु, कोंकणी, और लैटिन।
2. जार्ज ने अपने वक्त में बहुत से बंद का आह्वान किया। 1958 मुंबई बंद, 1966 में महाराष्ट्र बंद ।
3. इमरजेंसी के दौरान वे रुप बदलकर घुमते थे।
4. 10 जून 1976 में जार्ज को कोलकाता से डायनामाइट के साथ गिरफ्तार किया गया था।
5. साल 1986 में विश्वनाथ प्रताप सिंह की सरकार में रेल मंत्री बने और कोंकण रेलवे प्रोजेक्ट पर काम शुरू करवाया।

Join us to publish your article with us and make your online presence. Visit link below for more information.

https://thepoliticalcircle.com/join-us-and-earn-online/

©Thepoliticalcircle
No copyright infrigment intended on images. This article first appeared on thepoliticalcircle.com

George Fernandes in hindi

Related Articles

Vijaypal Mishra

Spend 20 years of my life observing politics , society in India. Political and social enthusiast. Also trained in Yoga and meditation in Haridwar, Uttarakhand.

You may also like...

1 Response

Leave a Reply

Your email address will not be published.