Is Mahagathbandhan a problem for BJP in Hindi . महागठबंधन की चुनौती ।

Share this Article

Tags: Mahagathbandhan in Hindi

चेतावनी :- विरोधी जवाब पढ़ने से पहले बरनोल साथ लाए। महागठबंधन की चुनौती से अगर आप भी मुंह फेर रहे हैं तो फिर यह तय है BJP Media Cell अपने उद्देश्य में सफल हो रहा है। इसका सीधा-सीधा अर्थ यह है की BJP Media Cell ऐसा माहौल बनाना चाह रहा है जैसा कि Mahagathbandhan नाम की कोई चीज धरातल पर मौजूद ही नहीं है और यह सिर्फ काल्पनिक बातें हैं पर अगर आप रोजाना की ताजा तरीन खबरें व राजनीतिक अपडेट्स लेते रहते हैं तो आप भी मेरी तरह महागठबंधन नाम की चुनौती को स्वीकार कर चुके हैं क्योंकि बात ऐसी है भैया….

मुकाबला तो होगा और महागठबंधन चुनौती भी देगा आइए कुछ तथ्यों पर बात करते हैं।

एक नज़र महागठबंधन में शामिल कुछ प्रमुख पार्टियों पर :

  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी
  • यूपी से सपा प्रमुख अखिलेश यादव
  • राजद नेता तेजस्वी यादव
  • तमिलनाडु से डीएमके नेता एमके स्टालिन
  • यूपी से आरएलडी अध्यक्ष अजीत सिंह
  • महाराष्ट्र से पूर्व मुख्यमंत्री एनसीपी प्रमुख शरद पवार
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री आप नेता अरविंद केजरीवाल
  • कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी
  • झारखंड से पूर्व मुख्यमंत्री व झामुमो प्रमुख हेमंत सोरेन
  • असम से एआईडीयूएफ के प्रमुख और सांसद बदरुद्दीन अजमल
  • अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गेगांग अपांग
  • आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू
  • पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा
  • जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला
  • जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला

कांग्रेस ने मल्लिकार्जुन खड़गेअभिषेक मनु सिंघवी और बसपा ने सतीश चंद्र मिश्रा को दूत के रूप में ब्रिगेड परेड ग्राउंड में हुई रैली में शामिल होने भेजा था।

 Mahagathbandhan in Hindi

63 फ़ीसदी सीटों पर इन क्षेत्रीय दलों का प्रभाव है। महागठबंधन के मंच पर 22 पार्टियों के नेताओं का साथ आना अपने आप में ऐतिहासिक है इनमें से 90 फ़ीसदी क्षेत्रीय दल है जो अपने अपने राज्यों में जोरदार प्रभाव रखते हैं। 13 क्षेत्रीय दलों को 2014 में 74 सीटें मिली थी वहीं कांग्रेस को 2014 में सिर्फ 44 सीटों पर सिमटना पड़ गया। इस तरह इस मंच पर मौजूद 14 बड़े दलों के 2014 में 118 सीटी खाते में आई थी जो कि मामूली आंकड़ा नहीं है और यही बात इस गठबंधन को मजबूती प्रदान करती है।

पर चलिए यह तो हो गई चुनौती की बात… इस वाक्य में कोई दो राय नहीं कि Mahagathbandhan , NDA को चुनौती देने को हाथ मुंह धो कर तैयार बैठा है मग़र 1 मिनट ठहरिये……..

महागठबंधन के तय करने भर से क्या देश का सत्ता परिवर्तन संभव है ?

नहीं, क्योंकि कथित महागठबंधन देशहितेशी नहीं बल्कि स्वयं का हित साधने वाली भीड़ ज्यादा दिख रही है। जहां इस मंच से सिर्फ और सिर्फ एक उद्देश्य पर बातें की गई के मोदी हटाओ

चलो हमने आपकी बात को मान- हटा दिया मोदी जी को पर अब आप बताओगे मोदी जी की जगह किसे प्रधानमंत्री बनाओगे ?

जेटली के शब्दों में कहूं तो – “हफ्ते के साथ दिन सात अलग-अलग प्रधानमंत्री तथा शनिवार इतवार राहुल गांधी को बना दिया जाएगा”

ऐसे देश चलेगा ? अगर ऐसा है तो नहीं चाहिए आपका गठबंधन

  • एनडीए पेट्रोल ₹100 करता है तो करने दो,
  • प्याज ₹80 बिकता है बेचने दो,
  • बातें तो ऐसी करते हैं कि जैसे जीएसटी से पहले किसी व्यापारी को नुकसान होता ही नहीं था।

जो भी हो पर मतदान करते समय मेरे दिमाग में कुछ बातें जरूर रहेगी और वह होगी

  • पिछले 5 साल में मैंने एक दिन आतंकी बम धमाका नहीं सुना
  • पिछले 5 साल में मैंने भारत को चीन के आगे झुकता नहीं देखा
  • पिछले 5 साल में मैंने पाकिस्तान की कंगाली देखी है
  • पिछले 5 साल में मैंने विश्व पटल पर उभरता हुआ भारत देखा है
  • पिछले 5 साल में मैंने भारत को दुनिया की सबसे तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था बनते हुए देखा है

और अंत में अंजना ओम कश्यप द्वारा इस महागठबंधन पर किया गया तंज – “देश बचाओ की रैली करने वाले लोगों के मुंह से वंदे मातरम और भारत माता की जय सुनने को कान तरस गए और वही लोग मंच से चिल्ला चिल्ला कर कह रहे थे- देश बचाओ !! देश बचाओ !!

ये लेखक के अपने विचार हैं।

Writer and Author:

©Valmiki Shubham

Join us to publish your article with us and make your online presence. Visit link below for more information

https://thepoliticalcircle.com/join-us-and-earn-online/

Mahagathbandhan in Hindi

Mahagathbandhan in Hindi

Related Articles

Vijaypal Mishra

Spend 20 years of my life observing politics , society in India. Political and social enthusiast. Also trained in Yoga and meditation in Haridwar, Uttarakhand.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.