Me too in hindi . मी टू अभियान

Share this Article

Tags : Me too in hindi

#Metoo: आइए जानते हैं क्या है ‘मी टू’ अभियान और कब हुई इसकी शुरुआत

 Me too in hindi

इन दिनों भारत में ‘मी टू’ अभियान (MeToo Campaign) काफी तेजी के साथ फैल रहा है। एक के बाद एक महिलाएं अपने साथ हुए यौन शोषण की घटनाओं के बारे में लिखकर शेयर कर रहीं हैं। तो आइए हम बात करते करते है कि, इस कैंपेन की शुरुआत कब हुई।

क्या है मी टू अभियान:

भारत में #Metoo अभियान सोशल मिडिया पर चल रहा एक तरह का आंदोलन है। इस अभियान के जरिए महिलायें अपने आप पर हुए यौन उत्पीड़न की घटनाएं खुलकर बता रही हैं। ये अभियान एक तरह की लड़ाई है, जिसमें महिलाएं अपने ऊपर हुए अत्याचारों के खिलाफ एक जुट होकर लड़ रहीं हैं।

कबसे शुरू हुआ मी टू अभियान: .

बता दें कि, Metoo की शुरुआत साल 2006 में हुई थी, लेकिन चर्चा में 2017 में आई।

इसकी शुरुआत अमेरिकी सिविल राइट्स एक्टिविस्ट तराना बर्क ने पहली बार 2006 में की थी। तराना बर्क के खुलासे के 11 साल बाद 2017 में यह सोशल मीडिया में खूब वायरल हुआ। इसकी बात हॉलीवुड अभिनेत्री एलिस मिलने ने 15 अक्टूबर 2017 को अपने ट्विट के जरिये की थी। उन्होंने हॉलीवुड के दिग्गज प्रोड्यूसर हार्वी वाइंस्टीन को लेकर खुलासे किए थे। इसके बाद उन्हें कंपनी छोड़ना पड़ा। उनका करियर ही बर्बाद हो गया। इसके बाद से ही यह सिलसिला शुरू हो गया था।

कौन-कौन हुआ शिकार:

भारत में इसकी शुरुआत बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने की। उन्होंने अभिनेता नाना पाटेकर पर 25 अक्टूबर को आरोप लगाए। भारत में ‘मी टू’ अभियान शुरू होने के बाद कई बड़े बॉलीवुड हस्तियों के नाम सामने आये हैं। नाना पाटेकर के बाद जिनपे आरोप लगाए गए हैं, उनमें विकास बहल, चेतन भगत, रजत कपूर, कैलाश खैर, जुल्फी सुईद, आलोक नाथ, सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य, तमिल राइटर वैरामुथु और मोदी सरकार में मंत्री एमजे अकबर, सुहेल सेठ शामिल हैं।

बॉलिवुड अभिनेता नाना पाटेकर पर अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने गलत तरीके से छूने का आरोप लगाया। तनुश्री का कहना है कि, 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान नाना ने उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश की थी। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि नाना ने बाकी कोरियोग्राफर को साइड करते हुए खुद उन्हें डांस सिखाना शुरू कर दिया था। उनके साथ इंटीमेट सीन देने के लिए जबरदस्ती भी की थी।

विकास बहल पर लगा आरोप:

बॉलीवुड के डायरेक्टर रह चुके विकास बहल पर फैंटम फिल्म की एक महिला कर्मचारी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। जिसके बाद अभिनेत्री कंगना रनौत ने पीड़िता का पक्ष रखते हुए अपने साथ हुई घटना का भी जिक्र किया। उन्होंने विकास पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि विकास उन्हें अश्लील मैसेज करते थे और उन्हें जबरन गले लगाते थे।

चेतन भगत:

हाल ही में #MeToo अभियान के तहत एक महिला ने मशहूर लेखक चेतन भगत के साथ हुई बातचीत के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर शेयर किया थे। स्क्रीनशॉट शेयर करने के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स चेतन भगत के प्रति अपना गुस्सा जाहिर कर रहे थे। हालांकि, इस मामले में लेखक चेतन भगत ने माफी भी मांगी थी।

रजत कपूर पर भी लगा आरोप :

इस कैंपेन में अभिनेता रजत कपूर का भी नाम सामने आया है। उनपर एक महिला पत्रकार ने गलत व्यवहार करने का आरोप लगाया था। पत्रकार ने रजत कपूर पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने उससे कहा कि उनकी आवाज इतनी सेक्सी है तो क्या दिखने में भी वो ऐसी ही हैं। इस आरोप के बाद रजत कपूर ने ट्विटर पर एक पोस्ट लिखते हुए माफी मांगी है।

कैलाश खैर:

इस अभियान में बॉलिवुड सिंगर कैलाश खेर का नाम भी सामने आया है। उन पर एक महिला पत्रकार ने आरोप लगाया है। महिला ने कहा है कि, एक इंटरव्यू के दौरान कैलाश उन्हें बार बार गलत तरीके से छूने की कोशिश कर रहे थे। खुद पर लगे इन आरोपों के बारे में पता चलते ही कैलाश खेर ने कहा कि ये आरोप गलत हैं। उन्होंने कहा कि वह हमेशा से ही महिलाओं का सम्मान करते हैं। लेकिन इस तरह की घटना के बारे में उन्हें कुछ याद नहीं है।

आलोक नाथ पर लगा आरोप:

संस्कारी कहे जाने वाले अभिनेता आलोक नाथ पर आरोप लगाए गए हैं। आलोक नाथ पर लेखिका और फिल्मकार विंटा नंदा ने आरोप लगाया। नंदा ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा और अपने साथ हुए दुष्कर्म के बारे में खुलासा किया। उन्होंने अपनी पोस्ट में किसी का भी नाम लिए बिना लिखा कि वे 90 के दशक के मशहूर धारावाहिक तारा के एक्टर थे। नंदा ने अपनी पोस्ट में संस्कारी शब्द का भी इस्तेमाल किया। जिससे माना जा रहा है कि उनका इशारा आलोक नाथ की ओर है।

सुहेल सेठ पर महिला ने लगाए आरोप:

‘मी टू’ मूवमेंट के तहत फिल्ममेकर सुहेल सेठ का नाम सामने आया है। नताशा राठौर नाम की महिला ने कुछ स्क्रीन शॉट्स शेयर करते हुए उनके खिलाफ संगीन आरोप लगाए हैं।

मंत्री एमजे अकबर पर लगे आरोप:

इस अभियान के तहत बॉलीवुड ही नहीं राजनेता भी इसकी चपेट में आ चुके हैं। मंत्री एमजे अकबर पर लगे आरोपों के बाद अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने उनके इस्तीफे की मांग की है। बता दें कि, मंत्री एम.जे अकबर पर महिला पत्रकारों ने यौन दुर्व्यवहार के आरोप लगाए हैं।

Writer and Author:

©Hifza Karim

About: Writes boldly on various topics.

Join us and make your online presence. For more information follow the link below.

https://thepoliticalcircle.com/join-us-and-earn-online/

Me too in hindi

Related Articles

Vijaypal Mishra

Spend 20 years of my life observing politics , society in India. Political and social enthusiast. Also trained in Yoga and meditation in Haridwar, Uttarakhand.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.