Swapna Barman in Hindi . स्वप्रा बर्मन की कहानी ।

Share this Article

Tags: Swapna Barman in Hindi

कहते हैं कि,

सोना जितना आग में तपता है,

उतना ही उनमें निखार आता है।

काफी कठिनाई, मुसीबतों और अभावों के बीच पली बढ़ी स्वप्रा बर्मन हेप्टाथलन खेल में सुवर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनी उस खबर को आज 4 महीने जितना लम्बा वक्त हो गया। जो खेल हम ज्यादातर भारतीयों को पता भी नहीं है की वो कैसे खेला जाता है, उसमे स्वप्रा जैसी लड़की जिसके पास कम सुविधाएं है वो गोल्ड मेडल भारत के लिए जितके लाती हैं।

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी शहर मेंरहने वाले एक रिक्शा चालक की बेटी ने जकार्ता में शान से तिरंगा लहराया. उनकी गोल्ड जितने से पहले काफी कठिनाईया रही. उनके पैरो में छे उंगलिया है. इसलिए उन्होंने स्पर्धा से पहले अपने लिए खास जुटे की भी मांग की थी. उनके दात में इन्फेक्शन के चलते बहुत दर्द का सामना करना पड़ा, और उनसे राहत पाने के लिए वो गाल पर टेप बाध कर उतरी.

जब वो इस खेल में भारत के लिए उतरी थी तब उनके करीबी और दोस्तों भी उनको इस खेल में स्वप्ना को सुवर्ण पड़ का दावेदार नही मानते थे. लेकिन उसने ६०२६ अंको से सुवर्ण पदक अपने नाम कर लिया.

सुवर्ण पदक जितने बाद उनके गाव से शहर तक एक पक्की सडक का निर्माण किया गया. स्वप्ना बर्मन को सरकारी नौकरी देने का वादा किया गया. और १० लाख रुपये नगद राशी दी गई.

 Swapna Barman in Hindi

हम आपको कहना चाहते है की क्रिकेट के आलावा और भी खेल है, और भारत उसमे भी अव्वल हो सकता है.अगर पूरी सविधाए और साधन मिले तो हम सब ओलम्पिक में भी सुवर्ण पदको की बारिश कर सकते है. लेकिन इसके लिए हम सब का मनोबल और कुछ करने की तम्मना हो, तभी मुमकिन है.

Join us and make your online presence. For more information follow the link below.

https://thepoliticalcircle.com/join-us-and-earn-online/

Swapna Barman in Hindi

Related Articles

SIDDHARTH MAVANI

I'm an engineer, but writing is my hobby.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.